यूपी संतों की वाणी बंद रहेंगे मंदिर मस्जिद खुली रहेगी मधुशाला

सरकार का मधुशाला ऐलान हो सकता है पारिवारिक कलह का मददगार

अटरिया सीतापुर भारत में लॉकडाउन के चलते अब तक शराब , पान तंबाकू तक की दुकानें बंद कर दी गई थी. इस दौरान सरकार के राजस्व में काफी कमी आई चूँकि सरकार के आय क्ले सभी स्रोत बंद कर दिए गए थे जिनमे खासकर , मदिरा की दुकानें , सरकारी बसें,रेल यात्रा , हवाई यात्रा समेत सभी साधन बंद थे. 


अब सरकार ने तीसरे लॉकडाउन का आगाज किया है. जिसमें कुछ चीजों पर लगी रोक हटा ली गई है. जिसमें शराब और गुटखा की दुकाने भी है. इनको खुलने के लिए सरकार ने सो ज़ोन बनाये है. इसमें ग्रीन और ओरेंज ज़ोन में शराब की दुकाने सशर्त खुलेंगी. 


बता दें कि सरकार ने धार्मिक स्थलों पर भी पूरी तरह से प्रतिबन्ध लगाया हुआ है. ऐसे में यह सवाल तो बनता ही है कि धार्मिक स्थल बंद रहेंगे और शराब की दुकानें खुली रहेंगी.
तो किसी कवि ने लिखा है 
बंद रहेंगे मंदिर मस्जिद
खुली रहेगी मधुशाला
ग्रीन और ऑरेंज में कोई बैर नहीं
दोनों जोन में खुली रहेगी मधुशाला


कोरोना वायरस के संक्रमण पर अंकुश लगाने की खातिर 24 मार्च से लम्बे लॉकडाउन के बाद सोमवार से शर्तों के साथ शराब की दुकानें खोलने का बड़ा असर देखने को मिला। करीब 40 दिन बाद खुलने वाली दुकानों पर लोग काफी पहले ही पहुंच गए।यूपी के सीतापुर अटरिया कमलापुर के साथ प्रदेश के अन्य तहसीलों के ग्रामीण क्षेत्रों में भी शराब की दुकानें खुलने से पहले ही उनके बाहर काफी लम्बी लाइनें लग गई।

इस दौरान कई जगह पर तो फिजिकल डिस्टेंसिंग की धज्जियां भी उड़ रही हैं। लोग बड़ी मात्रा में शराब की बोतलें खरीद रहे हैं, माना जा रहा है कि यह सभी लोग स्टॉक करने की योजना में लगे हैं।
लॉकडाउन 3.0 के लागू  है। इसके तहत कुछ शर्तों के साथ रेड, ऑरेंज व ग्रीन जोन में सुबह दस बजे से शाम के सात बजे तक शराब की दुकानें खोलने का प्रावधान भी है। सोमवार को प्रदेश  के  अन्य शहरों में भी सुबह दस बजे से ही शराब की दुकानें खोली गई हैं। इसको लेकर लोगों में काफी उत्सुकता देखी गई। अधिकांश जगह पर तो लोग नौ बजे से ही लाइनों में लग गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here