दिव्यांग युवक की पुलिस द्वारा बेरहमी से की गई पिटाई

दिव्यांग युवक की पुलिस द्वारा बेरहमी से की गई पिटाई से घायल युवक

मसौली बाराबंकी।

चोरी के शक में पूछताछ के लिए थाने लाये गये दिव्यांग युवक की पुलिस द्वारा बेरहमी से की गई पिटाई से घायल युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस के कारनामे को लेकर कांग्रेसियो ने जमकर भड़ास निकाली एव घायल युवक के भाई ने पुलिस अधीक्षक को शिकायत पत्र देकर मसौली पुलिस के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की है।

मामला मसौली थाना क्षेत्र के ग्राम बांसा का है रविवार को दिव्यांग दिलीप पुत्र हरिप्रसाद के घर पहुंची मसौली पुलिस पूछताछ के लिए थाना मसौली ले आयी और बीते दिनों घटित चोरी की घटनाओं के खुलासे के लिए रात में लगातार पुलिसकर्मी दिलीप को बुरी तरह से पीटते रहे. दिलीप अपने आप को निर्दोष बताकर माफी मांगता रहा, लेकिन पुलिसकर्मियों ने उसकी पिटाई जारी रखी,

जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। पुलिस दिव्यांग व्यक्ति से गांव के चार पांच लोगों के नाम जबरदस्ती उगलवाने के लिए दबाव बनाती रही। सोमवार को दिव्यांग दिलीप को मसौली पुलिस ने 151/ 107/116 सीआरपीसी में चालान कर उपजिलाधिकारी की कोर्ट से घर वापस आया तो पिटाई से घायल युवक की हालत बिगड़ गयी जिसे मंगलवार की सुबह सीएचसी बड़ागांव में भर्ती कराया गया परन्तु जांच के कोई संसाधन न होने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया ।

तनुज पुनिया ने घायल का लिया हालचाल

पुलिस की बर्बरतापूर्ण पिटाई से घायल दिव्यांग के जिला अस्पताल में भर्ती होने  की जानकारी होते ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया के बेटे तनुज पुनिया अस्पताल पहुंचे और पीड़ित का हाल-चाल जाना. तनुज पुनिया ने व्यक्ति की पिटाई करने वाले पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है।.

वही अपर पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार पाण्डेय ने बताया है कि दिलीप कुमार यादव को मसौली पुलिस चोरी के आरोप में पूछताछ के लिए थाने लेकर गई थी. जहां उन्हें फर्जी मुकदमे में फंसाने और पिटाई करने का आरोप लगाया है।

घायल युवक के भाई ने पुलिस अधीक्षक से लगायी गुहार

पुलिस की पिटाई से घायल दिव्यांग दिलीप के बड़े भाई मनीराम ने पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स से न्याय की गुहार लगाते हुए बताया कि रविवार को जब मसौली पुलिस मेरे छोटे भाई दिलीप को थाने ला रही थी जब कारण पूछा तो पुलिस ने कहा कि थाने आओ तो बताते है थाने लाने के बाद मसौली पुलिस ने मेरे भाई जो एक आंख से दिव्यांग है जबरदस्ती चोरी का जुर्म कबूलवाने व गांव के अन्य चार पांच लोगों के नाम लेने के पिटाई शुरू कर दी

मेरा दिव्यांग भाई गिड़गिड़ाता रहा परन्तु पुलिस का दिल नही पसीजा सोमवार को पुलिस ने एसडीएम कोर्ट पर पेश किया तथा रात में हालत खराब हो गई जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल युवक के बड़े भाई ने पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स से मसौली पुलिस के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। वही पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने पूरे मामले की जांच अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी को सौंपी है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel