लगभग दो साल से बैंक मित्र ने किया खाताधारकों के साथ लाखों रुपयों का फ्राड

लगभग दो साल से बैंक मित्र ने किया खाताधारकों के साथ लाखों रुपयों का फ्राड

इंडियन बैंक इलाहाबाद बैंक के बैंक मित्र विकास चंद्र के खिलाफ कई लोगों द्वारा आरोप लगाए गए


पहला महमूदाबाद जनपद सीतापुर की तहसील महमूदाबाद के अंतर्गत कस्बा फतेहपुर में चल रही इंडियन बैंक इलाहाबाद बैंक के बैंक मित्र विकास चंद्र के खिलाफ कई लोगों द्वारा आरोप लगाए गए कि उनके खाते से पैसा निकाल लिया गया। जब यह जानकारी करने मीडिया कर्मी पते पर पहुंचे तो इलाहाबाद बैंक मित्र विकास चंद्र निवासी के केसर वाला ने जब आप खुद कबूली है कि उनसे गलती हो गई है

और यह गलती लगभग 15 लोगों के साथ हुई ऐसा इलाहाबाद बैंक स्टेट बैंक मित्र विकास चंद्र ने खुद कबूली है।खाताधारक रुकसाना खातून 50,000  कंजो 35,000 अमीना 90,000 एवं कयूम के खाते से बैंक मित्र विकास चंद्र ने खिलवाड़ किया है। ऐसे बैंक मित्रों पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए और बैंक मित्र विकास चन्द्र का लाइसेंस रद्द करने की मांग ग्रामीणों द्वारा की जा रही है।

फर्जी आरोप लगाकर फसाया गए पत्रकार को हाईकोर्ट ने दी राहत
 
बिसवां सीतापुर जनपद सीतापुर की बिसवां पुलिस ने ब्लैक मेलिंग कर वसूली करने वाली औरत व उसके परिजनों को हथियार बनाकर सच्ची पत्रकारिता करने वाले बीवीटी न्यूज़ के पत्रकार को छेड़खानी का आरोप लगाकर जेल भेजने का कुत्सित प्रयास किया था परंतु माननीय हाईकोर्ट खंडपीठ लखनऊ के द्वारा तथ्यो एवं परिस्थितियों का परीक्षण करते हुए उक्त मामले में आरोपी बनाए गए पत्रकार को गिरफ्तारी से स्थगन देकर राहत प्रदान कर दी है तथा साथ ही पुलिस अधीक्षक सीतापुर को उक्त मामले की विवेचना अन्यत्र थाने की पुलिस से कराने का आदेश भी पारित किया है।

आपको बता दें कि थाना बिसवां में उक्त महिला के द्वारा ब्लैक मेलिंग कर लोगों से धन वसूलने का जरिया बनाया गया है उक्त औरत अपनी बालिग पुत्री को भी पुलिस की सहायता से नाबालिग बनाकर लोगों को जेल भिजवाने में माहिर है जब इस खेल का  पर्दाफाश bbt न्यूज़ के पत्रकार ने कर दिया तो  पुलिस के हल्का दरोगा ने उसी महिला को हथियार बनाकर उसकी पुत्री का मुकदमा फर्जी कथानक तैयार करवाकर छेड़खानी का दर्ज कर लिया और दबाव देकर उक्त मामले को बलात्कार में भी परिवर्तित करने का प्रयास किया। सच्ची पत्रकारिता करने वाले पत्रकारों का चरित्र हरण करने के साथ दबाव बनाने का एक नया तरीका पुलिस ने खोज निकाला है परंतु माननीय हाईकोर्ट की सतर्क निगाहों ने पुलिस की करनी को भाप लिया और त्वरित रूप से आदेश पारित किया गया है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel