सपा के फ्रंटल संगठनों ने जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

यूपी टीईटी परीक्षा मैं भ्रष्टाचार और अव्यवस्था को लेकर  पेपर लीक होने का आरोप

बाराबंकी यूपी के चुनावी माहौल में पेपर लीक होने के चलते सरकार द्वारा यूपी टीईटी परीक्षा 2021 रद्द किए जाने के बाद राजनीतिक दलों ने इसे मुद्दा बनाकर सरकार को घेरना शुरू कर दिया है इसी क्रम में आज समाजवादी पार्टी के फ्रंटल संगठनों द्वारा यूपी टीईटी परीक्षा में भ्रष्टाचार और अव्यवस्था के कारण पेपर लीक होने का आरोप लगाते हुए जिला अधिकारी के माध्यम से महामहिम राज्यपाल महोदय को ज्ञापन भेजा गया है

ज्ञापन सौंपने से फ्रंटल संगठनों के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर विरोध जताया इस अवसर पर समाजवादी युवजन सभा के जिला अध्यक्ष आशीष सिंह आर्यन ने कहा कि यूपी टीईटी की परीक्षा वर्तमान सरकार की नाकामी और लापरवाही के कारण रद्द हुई है जिससे अनगिनत छात्र एवं छात्राओं को अपूर्ण क्षति के साथ-साथ उनके सुनहरे भविष्य के साथ खिलवाड़ हुआ है सरकार द्वारा आयोजित टेट परीक्षा 2021 रद्द होना दर्शाता है कि प्रदेश में बढ़ती बढ़ती बेरोजगारी को रोकने के बजाय वर्तमान सरकार अधिक से अधिक लोगों को सरकारी संस्थाओं से वंचित करने की ओर अग्रसर है

इस अवसर पर यूथ बिग्रेड जिला अध्यक्ष साफे जुबेरी एवं छात्र सभा जिला अध्यक्ष आकाश यादव ने अपने संयुक्त संबोधन में कहा कि मौजूदा उत्तर प्रदेश सरकार के अंतिम बजट में भी युवाओं के रोजगार की दिशा में कोई ठोस प्रबंध नहीं है भाजपा की विध्वंस कारी नीतियों से युवाओं का पूरी तरह मोहभंग हो गया है भाजपा सरकार के कारण नौजवानों के भविष्य के सामने अंधेरा सा छा गया है

ना रोजगार की व्यवस्था और ना नौकरी की संभावना सब कुछ नेस्तनाबूद हो गया है विश्वविद्यालयों कॉलेजों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों और नौजवान घोर निराशा में है इस अवसर पर मुख्य रूप से सैफ अंसारी, आरिज, धीरेंद्र यादव धीरू शादाब शेख प्रीतम यादव शिव कुमार शिवम वर्मा आलोक यादव करुण मिश्रा आदि समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel