71वें संविधान दिवस के अवसर पर सरकारी दफ्तरों में दिलाई गई शपथ

स्वतंत्र प्रभात मोहम्मद आमिर ख़ान उन्नाव। 26 नवंबर का दिन भारत का एक ऐतिहासिक दिन होता है। इस दिन को हम संविधान दिवस के रूप में मनाते हैं। आज 71वें संविधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी रविंद्र कुमार के निर्देशन में जनपद के सभी सरकारी दफ्तरों में अनेकानेक कार्यक्रमों का आयोजन व प्रस्तावना का पठान

स्वतंत्र प्रभात मोहम्मद आमिर ख़ान उन्नाव। 26 नवंबर का दिन भारत का एक ऐतिहासिक दिन होता है। इस दिन को हम संविधान दिवस के रूप में मनाते हैं। आज 71वें संविधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी रविंद्र कुमार के निर्देशन में जनपद के सभी सरकारी दफ्तरों में अनेकानेक कार्यक्रमों का आयोजन व प्रस्तावना का पठान कराया गया और मौलिक कर्तव्यों की शपथ दिलाई गई।अपर जिलाधिकारी राकेश सिंह ने इस अवसर पर कलेक्ट्रेट परिसर में आयेजित कार्यक्रम के दौरान मौजूद अधिकारियों,

कर्मचारियों में बाहर से आए जनमानस आदि को मौलिक कर्तव्यों की शपथ दिलाई। अपर जिलाधिकारी ने इस अवसर पर ’हम भारत के संविधान में दिए गए मूल कर्तव्यों का पालन करेंगे। संवैधानिक आदर्शों, संस्थाओं, राष्ट्रध्वज व राष्ट्रीय प्रतीकों का आदर करना चाहिए। देश में संप्रभुता, अखण्डता की रक्षा करनी चाहिए। इसके साथ ही महिलाओं को सम्मान देने, हिंसा से दूर रहते हुए बंधुता को बढ़ावा देने, सामाजिक संस्कृति का संवर्धन व पर्यावरण का संरक्षण करने तथा वैज्ञानिक दृष्टिकोण का विकास,

सार्वजनिक सम्पत्ति की रक्षा करने, व्यक्तिगत व सामूहिक गतिविधि में उत्कृष्टता बढ़ाने सबको शिक्षा के अवसर प्रदान करने एवं स्वतत्रंता आन्दोलन के आदर्शों को बढ़ावा देंगे’ का आहवान करते हुए शपथ दिलाई। अपर जिलाधिकारी ने कहा कि आजादी मिलते ही देश को चलाने के लिए संविधान बनाने की दिशा में काम शुरू कर दिया गया। इसी कड़ी में 29 अगस्त 1947 को भारतीय संविधान के निर्माण के लिए प्रारूप समिति की स्थापना की गई और इसके अध्यक्ष के रूप में डॉ0 भीमराव अंबेडकर को जिम्मेदारी सौंपी गई।

दुनिया भर के तमाम संविधानों को बारीकी से देखने-परखने के बाद डॉ0 अंबेडकर ने भारतीय संविधान का मसौदा तैयार कर लिया। 26 नवंबर 1949 को इसे भारतीय संविधान सभा के समक्ष लाया गया। इसी दिन संविधान सभा ने इसे अपना लिया। यही वजह है कि देश में हर साल 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है। अपर जिलाधिकारी ने कहा कि अनेकता में एकता की मिशाल है भारत का संविधान, हमें संवैधानिक व्यवस्था के साथ चलते हुए अपने कर्तव्यों का पालन करना चाहिए। इस अवसर पर समस्त कलेक्ट्रेट स्टाफ उपस्थित रहा।


इन्सेट
नेहरू युवा केन्द्र में धूमधाम से मना संविधान दिवस
उन्नाव। नेहरू केन्द्र कार्यालय मंे धूमधाम से 71वां संविधान दिवस मनाया गया। विनीत गहलावत जिला युवा समन्वयक ने कहा कि संविधान हमारे समाज को वह कानूनी अधिकार प्रदान करता है। कार्यालय परिसर में शपथ ग्रहण के साथ ही साथ शहीदों को याद कर श्रद्धांजलि व नमन किया गया। इसी क्रम में विकास खण्ड बीघापुर के ग्राम सभा कुतुबुद्दीन गढ़ेवा में नेहरू युवा मण्डल के अध्यक्ष व सदस्यों द्वारा संविधान दिवस मनाया गया। मण्डल अध्यक्ष धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि संविधान ने हमें न्याय, स्वंत्रता, विश्वास, शान्ति और गर्व दिया और मण्डल अध्यक्ष ने सचाई व निष्ठा के प्रति शपथ ग्रहण भी कराया।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel