युवक की हत्या की मामले में परिजनों को ढांढस बंधाने पहुंचे BJP नेता

रायबरेली सलोन। कोतवाली छेत्र के पूरे ठकुराईन मजरे जौदहा गांव में रास्ते के विवाद को लेकर 2 पछो में जमकर लाठी डंडे व फावड़ा चल गया।जिसमे दर्जनों लोग घायल हुए है। इस मारपीट में एक व्यक्ति को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय रेफर किया गया वहा पहुंचते ही उसकी मौत हो गई। इस घटना से


रायबरेली सलोन।

कोतवाली छेत्र के पूरे ठकुराईन मजरे जौदहा गांव में रास्ते के विवाद को लेकर 2 पछो में जमकर लाठी डंडे व फावड़ा चल गया।जिसमे दर्जनों लोग घायल हुए है। इस मारपीट  में एक व्यक्ति को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय रेफर किया गया वहा पहुंचते ही उसकी मौत हो गई। इस घटना से नाराज उसके परिजनों ने अस्पताल व कोतवाली का घेराव कर चौकी इंचार्ज करहिया बाजार पर लगाये गंभीर आरोप लगाते हुए सस्पेंड किए जाने की मांग को लेकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय का भी घेराव किया है जिस पर तत्काल पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने।

करहिया चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कर दिया और जांच सीओ सलोन को सौंप दी है यह खबर पूरे जनपद में आग की तरह फैल गई मामले को संज्ञान लेते हुए महेंद्र सोनकर पूर्व दावेदार सलोन विधानसभा 181 प्रत्याशी व वर्तमान जिला उपाध्यक्ष अनुसूचित मोर्चा बीजेपी भी मृतक के परिवार को ढाढस बंधाने पहुंचे और न्याय का भरोसा दिलाया उल्लेखनीय है कि चौकी छेत्र के पूरे ठकुराईन का पुरवा मजरे जौदहा गांव में रास्ते का विवाद को लेकर दो पछो में काफी दिनों से विवाद चल रहा है।इसी विवाद को लेकर बीते 2 नवंबर को दोनों पछो में पुनः विवाद हुआ था जिसको लेकर मृतक के मामा जियालाल करहिया बाजार पुलिसः चौकी न्याय के लिए गया था वहाँ उसे न्याय नही गाली गलौज के साथ दुत्कार कर भगा दिया गया।मिली जानकारी के अनुसार पूरे ठकुराईन गांव निवासी जियालाल पुत्र छेदीलाल व नन्दलाल पुत्र कल्लू के बीच रास्ते का विवाद चल रहा है।

प्रतापगढ़ जनपद के थाना लालगंज छेत्र के ऐच्छनगोड़ा मजरे आगई गांव निवासी 17 वर्सीय पंकज पुत्र रमेस्वर अपने मामा जियालाल के घर आलू बुआई के लिए आया था। रास्ते के विवाद को लेकर बुधवार की सुबह दोनों पछ के बीच पुनः विवाद सुरु हो गया  जिसमें दोनो पछो से  लाठी  डंडे व फावड़ा चलने लगा जिसमे दोनो पछो से दर्जनों लोग घायल हो गए इस घटना की जानकारी पर मौके पर पहुंची पुलिस ने इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गई वह पंकज की हालत गंभीर होने के कारण उसे जिलाचिकित्सालय रेफर किया गया वहां पहुंचते ही उसकी मौत हो गई। मौत की खबर सुनते ही उसके परिजनों व रिस्तेदारो ने पी एच सी व कोतवाली में हंगामा काटते हुए चौकी इंजार्ज करहिया बाजार पर लगाये गंभीर आरोप परिजनों ने कहा कि यदि समय पर पुलिस पहुच कर न्याय कर देती

तो शायद न जाती पंकज की जान। इस घटना को देखते हुए कई थानों की पुलिस व पी ए सी बल बुलाया गया। उपजिलाधिकारी दिव्या ओझा व छेत्रधिकारी रामकिशोर सिंह ने परिजनों को न्याय का भरोसा दिलाया।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel