लाॅकडाउन में भी जिला प्रशासन किशोरियों की सेहत का रखेंगा पूरा ख्याल: जिलाधिकारी

लाॅकडाउन में भी जिला प्रशासन किशोरियों की सेहत का रखेंगा पूरा ख्याल: जिलाधिकारी

लाॅकडाउन में भी जिला प्रशासन किशोरियों की सेहत का रखेंगा पूरा ख्याल: जिलाधिकारी -स्कूल न जाने वाली 9,931 किशोरियों को मिलती रहेगी आईएफए ब्लू टैबलेट -आईसीडीएस की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर देंगी टैबलेट बलरामपुर 28 अप्रैल। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों की गतिविधियाँ ठप चल रही हैं। ऐसे

लाॅकडाउन में भी जिला प्रशासन किशोरियों की सेहत का रखेंगा पूरा ख्याल: जिलाधिकारी


-स्कूल न जाने वाली 9,931 किशोरियों को मिलती रहेगी आईएफए ब्लू टैबलेट


-आईसीडीएस की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर देंगी टैबलेट


बलरामपुर 28 अप्रैल। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए आंगनबाड़ी केन्द्रों की गतिविधियाँ ठप चल रही हैं। ऐसे में स्कूल न जाने वाली किशोरियों को केंद्र से मिलने वाली सुविधाओं से वंचित न होना पड़े, इसका पूरा ख्याल जिला प्रशासन को है। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के दिशा-निर्देश पर जिलाधिकारी ने आईसीडीएस को आदेश जारी किया है। डीएम ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को स्कूल न जाने वाली किशोरियों को आयरन फोलिक एसिड (आईएफए) ब्लू की टैबलेट समय से उपलब्ध कराने की व्यवस्था हरहाल में सुनिश्चित करने को कहा है।


जिलाधिकारी कृष्णा करूणेश ने मंगलवार को बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गृह भ्रमण कर स्कूल न जाने वाली जिले की 9,931 किशोरियों को आईएफए ब्लू टैबलेट का मासिक/साप्ताहिक वितरण करेंगी। इस दौरान वह सोशल डिस्टेंशिंग का पूर्ण पालन करें और टैबलेट वितरण का विवरण भी पंजिका पर दर्ज किया जाए। उन्होने बताया कि इससे अगले माह की आपूर्ति का वितरण करने से पहले आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा पहले बांटी गयीं गोलियों के उपभोग की स्थिति का भी पता आसानी से चल सकेगा। डीएम ने बताया कि किशोरियों में खून की कमी न होने पाए इसके लिए जरूरी है कि वह आईएफए टैबलेट का समय से सेवन करती रहें। इसी को ध्यान में रखकर यह निर्णय लिया गया है ताकि वह इससे वंचित न होने पाएं। इसके अलावा किशोर-किशोरियों को अपनी सेहत का पूरा ख्याल रखने और साफ-सफाई पर ध्यान देने के बारे में भी आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से गृह भ्रमण के दौरान जागरूक किया जा रहा है।


जिला कार्यक्रम अधिकारी सत्येन्द्र सिंह ने बताया कि किशोरियों को गृह भ्रमण के दौरान बताया जा रहा है कि किशोरावस्था शारीरिक बदलाव का वह दौर होता है, जिसमें खानपान पर भी ध्यान देना बहुत जरूरी है। भोजन में हरी पत्तेदार सब्जियों को जरूर शामिल करें। कोरोना वायरस के संक्रमण की जद में आने से बचने के लिए उन्हें घर पर ही रहने, साबुन-पानी से बार-बार हाथ धोने, सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करने और मास्क पहनने के बारे में भी बताया जा रहा है । किशोर-किशोरियों से यह भी कहा जा रहा है कि वह अपने साथ ही परिवार के अन्य सदस्यों को भी इस बारे में जागरूक करें ताकि कोरोना को हराने में देश सफल हो सके।


9931 किशोरियों को टेबलेट की होम डिलेवरी

सीडीपीओ गैसड़ी गरिमा श्रीवास्तव ने बताया कि 11 से 14 वर्ष की किशोरियों को सप्ताह में एक दिन आयरन फोलिक एसिड की टेबलेट का सेवन नींबू पानी के साथ करना होता है। निर्देश के अनुसार 10 परियोजनाओं की 9 हजार 9 सौ इकत्तीस किशोरियों को आंगनवाडी कार्यकर्ता सप्ताह में करीब 40 हजार टेबलेट का वितरण करेंगीं। जिसमें बलरामपुर देहात की 1553, शहर की 87, गैसड़ी की 1907, गैण्डास बुजुर्ग की 464, हर्रैया सतघरवा की 1925, पचपेड़वा की 690, रेहरा की 494, श्रीदत्तगंज की 760, तुलसीपुर की 1610 और उतरौला की 441 किशोरियों को आंगनवाडी कार्यकर्ताओं के द्वारा घर घर जाकर टेबलेट का वितरण किया जाना है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel