उन्नाव में पुराना यातायात पुल खुलवाने को सार्थक प्रयास नहीं

उन्नाव में पुराना यातायात पुल खुलवाने को सार्थक प्रयास नहीं

मुसीबत झेलते हैं पर जिम्मेदारों ने कोई ध्यान नहीं दिया अब पुल खोले जाने की चर्चा तेजी से सामने आ रही है।



स्वतंत्र प्रभात


 उन्नाव/शुक्लागंज। इसी साल अप्रैल में पुल की कोठी में दरार आने की फोटो वॉयरल होने के बाद कानपुर जिला प्रशासन ने रातोंरात पुराना यातायात पुल बंद करा दिया, जबकि पुल की मजबूती में बेजोड़ है। इसकी पुष्टि सीआरआरआई के वैज्ञानिक कर चुके हैं। सात महीने से पुल बंद होने से हजारों लोग रोज मुसीबत झेलते हैं पर जिम्मेदारों ने कोई ध्यान नहीं दिया। अब पुल खोले जाने की चर्चा तेजी से सामने आ रही है।

 सोशल मीडिया पर कोठी में दरार आने की फोटो और वीडियो वॉयरल होने पर बिना जांच पड़ताल प्रशासन के पुल बंद कर देने की बात लोग अब तक हजम नहीं कर पा रहे हैं। इतना ही नहीं दूसरे दिन पुल के दोनों छोर पर दीवार खड़ी करा दी गई। इस बीच तमाम लोग शासन प्रशासन से पत्राचार करते रहे पर किसी ने कोई ध्यान नहीं दिया। हजारों छात्र कानपुर पढ़ने जाते हैं। नवीन पुल पर रोज जाम से जूझना पड़ता है।

 नौकरी पेशा लोग भी ड्यूटी से वंचित हो जाते हैं या फिर दफ्तर देर से पहुंचते हैं। उन्नाव और कानपुर के जन प्रतिनिधियों ने जनता के दुख दर्द को नहीं समझा। अब विधान सभा चुनाव पास में आ रहे हैं तो लोग पुल खुलवाने की बात कह रहे हैं।

 सदर विधायक पंकज गुप्ता की माने तो पुल से छोटे वाहनों के आवागमन के लिए एनसीपीडब्ल्यूडी से वार्ता की है। उन्होंने चीफ कानपुर से भी बात की है। संभावना है कि पुराना पुल जल्द खुल सकता है। वहीं अधिशासी अभियंता लोक निर्माण मुकेश चंद्र शर्मा ने बताया कि इसी महीने पुल की जांच के लिए टीम आ सकती है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel