घोषणा-पत्र मे जानबूझकर गलत रकवा दर्शाने वाले अराजक तत्वो एवं गन्ना माफियाओं का सट्टा होगा लाक:संजय आर भूसरेड्डी

घोषणा-पत्र मे जानबूझकर गलत रकवा दर्शाने वाले अराजक तत्वो एवं गन्ना माफियाओं का सट्टा होगा लाक:संजय आर भूसरेड्डी

राजस्व विभाग द्वारा प्रदत्त ए पी आई के माध्यम से किसानों की खतौनी का मिलान किया जाएगा।


स्वतंत्र प्रभात 
 


 शाहजहांपुर। गन्ना आयुक्त संजय आर भूसरेड्डी ने बताया कि रकबे में जानबूझकर गड़बड़ी करने वाले कृषकों को चिनिहत करने की विभागीय सॉफ्टवेयर में  व्यवस्था है।गलत डाटा भरने पर सट्टा लाक करते हुए गन्ना मूल्य भुगतान रोकने तथा सदस्यता खारिज करने की  कार्यवाही होगी।शिकायत होने पर विभागीय संघन जांच दल द्वारा मौके पर भौतिक सत्यापन किया जाएगा।


प्रदेश के आयुक्त गन्ना एवं चीनी संजय और भूसरेड्डी ने बताया कि ऑनलाइन घोषणा पत्र भरते समयजटिल प्रक्रिया को सरलीकरण करने एवं कृषकों की सुविधाओं को दृष्टिगत विभाग द्वारा राजस्व भूमि के प्रमाण के रूप में खतौनी अपलोड करने की व्यवस्था को समाप्त किया गया है इस सुविधा का दुरुपयोग करते हुए यदि किसी अराजक तत्वों एवं गन्ना माफियाओं द्वारा गड़बड़ी करने की ई दृष्टि से अपना रकवा भरते समय रकबे में परिवर्तन कर दिया जाता है 


तो इसे विभाग द्वारा आसानी से चिन्हित कर लिया जाएगा।गन्ना आयुक्त ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि विभाग द्वारा किसानों के रखने का मिलान राजस्व विभाग द्वारा प्रयुक्त भूलेख ए पी आई से अनिवार्य रूप से किया जाएगा यदि किसी भी किसान द्वारा जानबूझकर अपने रकबे को गलत दर्शाया गया तो गलत डाटा भरने पर संबंधित किसान का सट्टा लाख करते हुए गन्ना मूल्य भुगतान रोक दिया जाएगा एवं सदस्यता खारिज करने की कार्यवाही भी कर दी जाएगी

 उन्होंने यह भी बताया कि सट्टा लॉक होने पर किसी भी प्रकार की पर्ची निर्गत नहीं हो पाएगी।यह भी ज्ञातव्य रहे कि विभाग के पास गन्ना किसानों का गत 05 भारत का महत्वपूर्ण डाटा उपलब्ध है एवं विभागीय सॉफ्टवेयर में ऐसी व्यवस्था भी उपलब्ध है कि जिस भी किसान ने अपने रकबे में परिवर्तन किया है वही आरपी सॉफ्टवेयर के माध्यम से स्वता चिन्हित हो जाएगे ।गन्ना आयुक्त ने किसानों को स्पष्ट संदेश देते हुए

 कहा कि खतौनी अपलोड करने की अनिवार्यता को समाप्त करना विभाग द्वारा कृषक हित में उठाया हुआ कदम है इसमें कोई भी अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी फिर भी यदि शिकायत पाई गई तो सघन जांच दल द्वारा मौके पर भौतिक सत्यापन कराने के उपरांत कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
 

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Online Channel