किसान विरोधी बिल,नई शिक्षा नीति व पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतें वापस ले सरकार:रमेश मौर्य

किसान विरोधी बिल,नई शिक्षा नीति व पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतें वापस ले सरकार:रमेश मौर्य

स्वतंत्र प्रभात
अंबेडकरनगर। केंद्र व राज्य सरकार की गलत नीतियों जनता परेशान।जन अधिकार पार्टी के आलापुर विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष रमेश मौर्य ने उपजिलाधिकारी आलापुर धीरेन्द्र श्रीवास्तव को ज्ञापन सौंपा।जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबू सिंह कुशवाहा व भागीदारी संकल्प मोर्चा के आहवाहन पर जन अधिकार पार्टी जिलाइकाई अम्बेडकरनगर से विधानसभा अध्यक्ष आलापुर रमेश मौर्य ने केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि कानून,नई शिक्षा नीति व श्रम नीति की खामियों व प्रदेश सरकार कीजनविरोधी नीतियों, डीजल पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी को तत्काल वापस लेने एवं सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग का आरक्षण समाप्त किए जाने एवं क्रीमीलेयर व्यवस्था लागू करने के विरुद्ध उपजिलाधिकारी आलापुर के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति एवं महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंपा।

जिसमें प्रमुख मांगे नई कृषि नीति किसान विरोधी है, कालाबाजारी को बढ़ावा देने वाली है, कॉन्ट्रैक्ट खेती किसान को गुलाम बनाने वाली है,यह कृषि नीति किसान और उससे जुड़े सभी लोगों को गुलामी की तरफ ले जाने वाली है और आम आदमी को नुकसान पहुंचाने वाली है ऐसी नीति को तुरंत रद्द किया जाए,पेट्रोल डीजल पर अधिरोपित टैक्स को केंद्र व राज्य सरकार कम करें जिससे पेट्रोल डीजल सस्ता हो सके,पिछड़े दलितों अल्पसंख्यकों की हत्याओं एवं उत्पीड़न को तत्काल रोका जाये।बहन बेटियों पर हो रहे अन्याय अत्याचार तत्काल रोका जाए और अन्याय अत्याचार दुर्व्यवहार करने वालों से सरकार सख्ती से कार्यवाही करें।

सामान्य वर्ग की तरह अन्य पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान करने के साथ जन अधिकार पार्टी नई शिक्षा नीति का विरोध करती है।पूरे देश में शिक्षा का पाठ्यक्रम एक समान हो व बेरोजगार नवयुवकों को रोजगार उपलब्ध कराया जाय। छोटे व मझोले किसानों दुकानदारों व्यापारियों का कर्ज एवं बिजली बिल माफ कर किसानों के गन्ने का मूल्य एवं भुगतान तत्काल किया जाना न्यायहित में होगा। इस प्रकार विधानसभा अध्यक्ष आलापुर रमेश मौर्य के साथ जिला महासचिव सुनील मौर्य, अखिलेश मौर्य, प्रवेश मौर्य, कुलदीप मौर्य मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here