जिलाधिकारी द्वारा विभिन्न तटबंधों/घाटों का लिया गया जायजा

जिलाधिकारी,-कुंदन-कुमार-द्वारा-आज-बगहा-एक-प्रखंड-अंतर्गत-दीनदयाल-तटबंध-तथा-बगहा-दो-प्रखंड-अंतर्गत-मंगलपुर-घाट-का-औचक-निरीक्षण-किया-गया।
BIHAR NEWS @ JOURNALIST AMARESH

तटबंधों/घाटों पर पैनी नजर बनाए रखने का दिया निर्देश।

कटाव होने की स्थिति में अविलंब निरोधात्मक करवाई करें अधिकारी

निचले स्थलों पर रहने वाले लोगों को माइकिंग कर सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाएं।

अचूक रूप से ससमय निष्पादित करें राहत एवं बचाव कार्य : जिलाधिकारी।

  • स्वतंत्र प्रभात
    मोहन सिंह की रिपोर्ट

बेतिया। जिलाधिकारी, कुंदन कुमार द्वारा आज बगहा-एक प्रखंड अंतर्गत दीनदयाल तटबंध तथा बगहा-दो प्रखंड अंतर्गत मंगलपुर घाट का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के क्रम में उन्होंने कहा कि तटबंधों/घाटों की सुरक्षा हेतु सभी कारगर उपाय सुनिश्चित किये जाय।

इसके साथ ही सभी संबंधित अधिकारी तटबंधों/घाटों की सतत निगरानी करते रहें। इस कार्य को अचूक रूप से करना है ताकि किसी भी प्रकार की जान-माल की क्षति नहीं होने पाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले के तटबंधों की निगरानी हेतु 190 होमगार्ड को लगाया गया है।

साथ ही सभी कार्यपालक अभियंता, कनीय अभियंता तटबंधों पर पूरी सतर्कता के साथ 24×7 पेट्रोलिंग कर रहे हैं। उन्होंने अधिकारियों को निदेश दिया कि पेट्रोलिंग के क्रम में प्राप्त छोटी-छोटी जानकारियां भी अविलंब प्रतिवेदित करेंगे ताकि ससमय उसका निराकरण किया जा सके।

उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों, कर्मियों को अपना मोबाइल हमेशा ऑन रखने का निदेश दिया गया है ताकि बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य ससमय निपटाया जा सके। निरीक्षण के क्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि जिन स्थानों पर कटाव की संभावना ज्यादा है वहाँ पर्याप्त मात्रा में सभी बाढ़ सुरक्षात्मक सामग्रियां उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि नेपाल में भारी बारिश होने तथा पश्चिम चम्पारण जिले में अत्यधिक वर्षापात, वज्रपात एवं बाढ़ की संभावना के मद्देनजर हाई अलर्ट कर दिया गया है।

गंडक बराज द्वारा साढ़े चार लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी डिस्चार्ज किया है जिससे नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ते जा रहा है। आज रात्रि में और भी अधिक पानी डिस्चार्ज होने की संभावना है। सभी बीडीओ, सीओ, कार्यपालक अभियंता, कनीय अभियंता तथा अन्य पदाधिकारी पूरी सतर्कता के साथ तटबंधों का लगातार निरीक्षण करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि रिंग बांधों पर विशेष नजर रखने की आवश्यकता है।

जहाँ-जहाँ प्रेशर प्वाइंट हैं वहाँ सुरक्षात्मक उपाय तुरंत किया जाय। उन्होंने कहा कि निचले स्थानों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया जा रहा है। इस कार्य में सभी बीडीओ, सीओ एवं जनप्रतिनिधि गण भी लगे हुए हैं। कटाव वाले स्थलों तथा संभावित बाढ़ वाले स्थलों पर प्रॉपर माइकिंग के द्वारा लोगों को सचेत किया जा रहा है तथा उन्हें सुरक्षित स्थलों पर रहने की सलाह दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि रेन कट एवं रैट होल पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। जहाँ कहीं भी रेन कट एवं रैट होल मिले, तुरंत मरामती करायी जाए। इस कार्य मे किसी भी प्रकार की शिथिलता पर संबंधित अधिकारी को बख्शा नहीं जाएगा। एनडीआरएफ टीम इंस्पेक्टर, संजय कुमार ने बताया कि उनकी टीम लगातार बगहा क्षेत्र के विभिन्न तटबंधों/घाटों का लगातार निरीक्षण कर रही है। भितहा, पिपरासी, मधुबनी इलाके पर पैनी नजर है।

एनडीआरएफ की पूरी टीम अलर्ट मोड में है। जिलाधिकारी ने कहा कि अभी के समय में नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। नदियों में किसी भी प्रकार का नाव, डेंगी आदि का परिचालन प्रतिबंधित कर दिया गया है। होमगार्ड जवान, अंचलाधिकारी एवं अभियंता यह सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी प्रकार के नावों का परिचालन नहीं हो।

अगर किसी व्यक्ति के द्वारा आगाह करने के बावजूद नावों का परिचालन किया जा रहा है तो उसके विरुद्ध एफआईआर दर्ज करते हुए नाव को जब्त कर लिया जाय। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जिलास्तर से निर्गत गाइड लाइन का अचूक रूप से शत-प्रतिशत पालन किया जाय।

बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य को पूरी तत्परतापूर्वक किया जाय। आपदा की इस घड़ी में सभी को मिलजुल कर जिलेवासियों की रक्षा करनी है। जिलाधिकारी ने जिलेवासियों से अपील की है कि नेपाल में लगातार हो रही भारी बारिश, जिले में अत्यधिक वर्षापात होने से नदियों का जलस्तर बढ़ता जा रहा है।

इससे जिले में बाढ़ की संभावना बनी हुई है। सभी लोग पूरी तरह सतर्कता बरतें। निचले स्थानों पर रहने वाले व्यक्ति सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं। अनावश्यक रूप से घरों से बाहर नहीं निकले। जिला प्रशासन किसी भी प्रकार की विषम परिस्थिति से निपटने हेतु पूरी तरह तैयार है। जिला प्रशासन रात दिन मेहनत कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here