आल इंडिया टॉपर  कविता त्रिपाठी को मिला 1 लाख का पुरस्कार

‌आल इंडिया टॉपर कविता त्रिपाठी को मिला 1 लाख का पुरस्कार।

‌जुनून हो तो कुछ मुश्किल नहीं-   कविता।

‌स्वतंत्र प्रभात ।
‌प्रयागराज ।
‌दया शंकर त्रिपाठी की रिपोर्ट
‌ स्टाफ सेलेक्शन कमीशन की ओर से अखिल भारतीय जूनियर इंजीनियर भर्ती परीक्षा 2018 के फाइनल घोषित परिणाम में कविता त्रिपाठी ने ऑल इण्डिया टॉप करके प्रयागराज को गौरवान्वित किया है । गोविंदपुर के कैलाशपुरी की रहने वाली मेधावी कविता त्रिपाठी ने सिविल इंजीनियरिंग में आई ई आर टी से डिप्लोमा किया। कविता त्रिपाठी के पिता दिनेश चन्द्र त्रिपाठी सिंचाई विभाग में क्लर्क है जबकि माँ राजकुमारी त्रिपाठी ग्रहणी है ।उसकी बहन सविता त्रिपाठी भी पीडब्ल्यूडी में जूनियर इंजीनियर पद पर कार्यरत है। बता दें इसके पूर्व कविता त्रिपाठी ने आरआरबी जेई तथा यू पी आर वी एन एल जेई में भी सफलता हासिल कर चुकी है।
‌ कविता त्रिपाठी और उसके परेंट्स को आज एक शानदार प्रोग्राम में 1लाख रुपए और पुरस्कार दे कर सम्मानित किया गया।
‌कविता का मानना है कि यदि सच्ची लगन से अनवरत प्रयास किया जाए तो सफलता मुश्किल नहीं।कविता त्रिपाठी ने कहा कि जेई भर्ती परीक्षा की तैयारी में टेक्निकल विषयों के साथ-साथ नॉनटेक्निकल विषयों पर विद्यार्थियों को अधिक ध्यान देने की आवश्यकता होती है बता दे एसएससी जेई की भर्ती परीक्षा में डिप्लोमा ,बी टेक ,एमटेक योग्यता रखने वाले लाखों विद्यार्थी प्रतिवर्ष प्रतिभाग करते हैं। कविता ने इस कठिन परीक्षा में लाखों प्रतिभागियों को पीछे छोड़ते हुए प्रयागराज के साथ-साथ उत्तर प्रदेश को गौरवान्वित कर दिया l कविता का कहना है कि मेरी इस उपलब्धि में रैंकर बैच के गुरुजन एहतेशाम सिद्दीकी , रवि डालमिया, अरहम सिद्दीकी, अम्बरीष, शशि सर , नवीन और रवि सर के मार्गदर्शन योगदान महत्वपूर्ण रहा।

‌एक्सीलेंट विजन टेक्निकल एकेडमी  के 8 लोग चयनित।

‌एक्सीलेंट विजन टेक्निकल एकेडमी के सूरत सिंह ने 12वीं रैंक, आलोक कुमार मिश्रा ने 57वीं, विनोद  केशरी ने 3383वीं,अश्विनी कुमार ने 123 रैंक सत्येंद्र कुमार ने 199 रैंक, पदुमन पांडे ने 303 कपिल कुमार ने 627 तथा सौरभ मिश्रा ने 1492 रैंक हासिल की है।