श्रमिक के बेटियों को छात्रवृत्ति के साथ-साथ स्कूल जाने के लिए साइकिल भी देने जा रहा है श्रम विभाग


जनपद में 70 हजार पंजीकृत श्रमिको के बेटियों को दिया जायेगा साईकिल

बस्ती मण्डल में 1 लाख 60 हजार पंजीकृत श्रमिकों के बेटियों को दिया जायेगा साईकिल 

बस्ती।

श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों के बेटियों को छात्रवृत्ति के साथ साथ स्कूल जाने के लिए साइकिल भी देने जा रही है। उत्तर प्रदेश सरकार ने बेटियों के पढ़ाई में बढ़ावा देने के लिए छात्रवृत्ति के साथ-साथ साइकिल देने का निर्णय लिया है। वित्तीय वर्ष 2018-19 में हाईस्कूल व इंटरमीडिएट पास हुए बेटियों को अगले कक्षा में प्रवेश लेने के बाद श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों के बेटियों को साइकिल मुहैया कराएगी।

बस्ती मंडल में 1 लाख 60 हजार श्रमिक पंजीकृत है, वही बस्ती जनपद में 70 हजार श्रमिक श्रम विभाग में पंजीकृत हैं। श्रम विभाग द्वारा संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के तहत छात्रवृत्ति के साथ साथ साइकिल दिया जाएगा। इस विभाग में कम से कम 1 वर्ष पुराना श्रमिक पंजीकृत होने पर उक्त सुविधा का लाभ उठा पाएगा।

इस योजना में एक श्रमिक के सिर्फ दो बेटियों को ही साईकिल का लाभ दिया जाएगा। इस योजना में आवेदन करने के बाद ही श्रमिकों के बेटियों को लाभ दिया जायेगा।कैसे करें आवेदनः-साइकिल प्राप्त करने के लिए उत्तीर्ण कक्षा की अंकतालिका, प्रवेश शुल्क की रसीद के साथ अभिलेख स्कूल के प्रधानाचार्य से प्रमाणित कराकर आवेदन पत्र मूल रूप से श्रम विभाग में जमा कराना होगा। उत्तर प्रदेश में सभी राज्य में पुत्रियों के अध्ययनरत होने की स्थिति में अंकतालिका व प्रवेश की रसीद डीआईओएस से प्रमाणित कराना होगा।

आवेदन पत्र का निस्तारण अधिकतम 15 दिन में कराना होगा। छात्रा को साइकिल मिलने के बाद विभाग संबंधित विक्रेता को भुगतान करेगा।