रात्रि में चोर उच्चकों पर खीरी थाना पुलिस की पैनी नजर

लखीमपुर खीरी –

  सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर खीरी थाना क्षेत्र में पुलिस सक्रिय है। मालूम हो कि भीषण ठंड में रात होते ही कोहरे की मोटी चादर में समूचा शहर ढक जाता है। जिसमें चोरी छिनैती आदि जैसी घटनाएं होनी शुरू हो जाती है। जिसके मद्देनजर खीरी थाना पुलिस रात को काफी सक्रिय नजर आ रही है। खीरी थाना प्रभारी सुनील कुमार सिंह अपने दल बल के साथ क्षेत्र में गश्त कर चोर उच्चकों पर पैनी नजर बनाए रहते है

वही खीरी पुलिस चौकी पर तैनात प्रभारी कौशल किशोर अपनी टीम के साथ रात्री में पुलिस हूटर बजाते हुए समूचे कस्बे में घूमते हैं। रात्रि में हमारे संवाददाता ने सड़क पर निकल कर जायजा लिया तो कड़ाके की ठंड में चौकी प्रभारी अपनी पुलिस टीम के साथ सड़कों पर नजर आए वार्ता करने पर चौकी प्रभारी कौशल ने बताया

कि ठंड बहुत पड़ रही है और कोहरे में कुछ दिखाई नही देता ऐसे में चोर चोरी की घटनाओं को अंजाम दे सकते है इसलिए पूरी रात समूचे कस्बे में मेरी नजर बनी रहती है और सिपाही भी कस्बे के बाजारों और मोहल्लों में पुलिस बाईक से राउंड करते रहते है। बहरहाल खीरी थाना पुलिस एसपी के आदेशों पर खरी उतरती दिखाई पड़ रही है।वहीँ रात भर पुलिस की सुरक्षा में थाना क्षेत्र व कस्बा अपने आपको सुरक्षित महसूस कर रहा है।

लखीमपुर-खीरी

जिला अस्पताल रोजाना की तरह ही शनिवार को भी ओपीडी में मरीजों की भीड़ उमड़ी थी। यहां अस्पताल की ईएनटी सर्जन हर्षिता अवस्थी ओपीडी में मरीजों को देखकर उनकी समस्या पूछ रही थी। इसी बीच लाइन में लगे एक मरीज परिजनों ने डॉक्टर से बदसलूकी शुरू कर दी।डॉक्टर के समझाने पर लाइन में खड़े मरीज के परिजनों ने वहां हंगामा करना शुरू कर दिया। इससे अस्पताल में हड़कंप मच गया। हंगामे की जानकारी होने पर अस्पताल का स्टाफ वहां पहुंच गया और मरीज के परिजनों को समझा-बुझाकर ओपीडी के बाहर लाए। इसके बाद कहीं मामला शांत हुआ। डॉक्टर ने मरीज के परिजनों पर उनसे अभद्रता करने का आरोप लगाया है।

पलियाकलां खीरी

शहर स्थित विभिन्न मेडिकल स्टोरों पर तहसीलदार व सीओ सहित पुलिस बल के साथ पहुंचे ड्रग इस्पेक्टर ने छापामार अभियान चलाया। इस दौरान कई मेडिकल स्टोरों से ड्रग इस्पेक्टर ने सैम्पल भी लिये। छापामार अभियान की सूचना पर शहर सहित क्षेत्र के कई मेडिकल स्टोरों के एकाएक शटर गिर गये। छापामार अभियान को लेकर कई घंटों तक हड़कम्प की स्थिति बनी रही। इस दौरान अधिकारियों ने दवाओं के बिल भी चेक किये। शहर में इन दिनों मादक पदार्थों का धंधा जोरों पर किया जा रहा है। उधर कुछ मेडिकल स्टोरों पर नशीली दवाओं की बिक्री की बार बार मिल रही सूचना पर शनिवार को तहसीलदार आशीष कुमार सिंह, बीडीओ डा. विनय कुमार मिश्रा, सीओ राकेश नायक, कोतवाल विद्या शंकर शुक्ला के साथ ड्रग इस्पेक्टर सुनील कुमार रावत ने विभिन्न मेडिकल स्टोरों पर अचानक छापा मारा। छापामार कार्रवाई के दौरान ड्रग इस्पेक्टर ने सैम्पल भी लिये। इसके अलावा दवाओं के बिल आदि भी चेक किये। छापामार कार्रवाई की सूचना पर गली व गांवों के अलावा शहर के विरानों में खुले मेडिकल स्टोर व्यापारियों ने अपने शटर गिरा लिये और नौ दो ग्यारह हो गये। डीआई सुनील कुमार रावत ने बताया कि छापामार अभियान जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि अगर नशे का व्यापार करते कोई भी मेडिकल स्वामी पकड़ा गया तो वह उसे किसी भी हाल में नही बख्सेंगे।