गोपीगंज में सीएमओ ने किया औचक निरीक्षण, मची अफरा-तफरी।

गोपीगंज में सीएमओ ने किया औचक निरीक्षण, मची अफरा-तफरी।

उमेश सिंह (ब्यूरो चीफ )

भदोही। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोपीगंज में आकस्मिक निरीक्षण पर पहुंची मुख्य चिकित्साधिकारी डा लक्ष्मी सिंह के पहुंचते ही डॉक्टरों व स्टाफ में अफरातफरी मच गई। सीएमओ ने इमरजेंसी रूम, लेबर रूम, वार्ड, शौचालय, डॉक्टरों के कमरों का निरीक्षण किया। मौके पर फार्मासिस्ट चीफ शिवचरन को मौके पर न मिलने पर डांट लगाई। और कहा कि हम भी छोटे अस्पतालों में रहे है आप लोगो को मुख्य चिकित्साधिकारी का खौफ नही। सीएमओ ने चेतावनी देते हुए छोड़ दिया। साथ ही निर्देश दिया कि 60 की उम्र से ज्यादा के आदमियों को हॉस्पिटल में आने से मना किया अगर 60 साल की उम्र से ज्यादा कोई बीमार मरीज आता है तो उसकी देखभाल जरूरी है। इसके साथ ही डॉक्टरों के केबिन से नेमप्लेट को न रहने पर नाराजगी जाहिर की। और तत्काल लगवाने को कहा चिकित्साधिकारी के दिशा निर्देश में आकस्मिक सेवा के लिए डॉक्टर एवं मेडिकल स्टाफ मरीजो को देखते हुए अपने कर्तब्य का पालन करते देखे गए। दिन शुक्रवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर मरीजो की भीड़ बढ़ती रही। डॉक्टर अनिल श्रृंगार और हॉस्पिटल के स्टाफ मरीजो की तीमारदारी में जो सुबिधायें उपलब्ध है। उसका इस्तेमाल करते रहे। वही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक कमी देखने को मिली कि पैथोलॉजी ,एवं फार्मासिस्ट दवा काउंटर बन्द होने के कारण मरीजो को अपनी जांच एवं दवाओं के लिए भटकना पड़ रहा है। वही बाजार में पैथोलॉजी सेंटर बन्द होने से और भी विकट समस्या खड़ी हो रही है।संतोषजनक बात यह है शासन प्रशासन द्वारा लाकडाऊन से मेडिकल स्टोरों को छूट दी गयी है। जिससे दवाये मिल जा रही है। मरीजो को राहत की बात यह रही कि प्राथमिक उपचार उनको मिल रहा है। जहां देश में विश्व मे कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ा है वही डॉक्टर बगैर खौफ के मरीजो को देख रहे है। वही मरीजों का कहना है कि जब सभी बाजार के पैथोलॉजी सेंटर बन्द है तो मुख्य चिकित्साधिकारी को पैथोलॉजी की सुविधा देनी चाहिए क्यों कि गोपीगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जनपद का राष्ट्रीय राजमार्ग का एक महत्वपूर्ण हॉस्पिटल है जहां पर आम दिनों में सैकड़ो की संख्या में मरीजों का आवागमन रहता है।आज अमूमन लोगो को खाँसी,बुखार,जुकाम,की शिकायत है जिसको लेकर लोगों में एक भय वयाप्त है। ऐसे में पैथोलॉजी का खुलना आवश्यक है।निरीक्षण के दौरान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉक्टर सहित स्टाफ के लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here