बलूचिस्तान में बर्फबारी और बारिश से 14 की मौत…

स्वतंत्र प्रभात –

भारी बर्फबारी और बारिश ने बलूचिस्तान के विभिन्न हिस्सों में 14 लोगों की मौत हो गयी है और दुनिया के बाकी हिस्सों के साथ सबसे बड़े प्रांत पाकिस्तान से उसके सड़क और हवाई संपर्क को बाधित कर दिया है। इस बीच पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत के सात जिलों में भारी बारिश और बर्फबारी के बाद आपातकाल लागू कर दिया गया है।

समाचार एजेंसी आइएएनएस ने समाचार इंटरनेशनल की रिपोर्ट का हवाला देते हुए जानकारी दी है कि द प्रांतीय डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (पीडीएमए) ने रविवार को मास्टुंग, किला अब्दुल्ला, केच, ज़ियारत, हरनई और पिशिन जिलों में आपातकाल घोषित कर दिया।मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि क्वेटा में भारी बर्फबारी ने पहले ही 20 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया था।

देश के अधिकांश हिस्सों में तेज हवाओ के साथ खैबर पख्तूनख्वा, गिलगिट-बाल्टिस्तान और गुलाम कश्मीर में भी बर्फबारी की उम्मीद है। डॉन न्यूज़ ने मौसम विभाग के हवाले से बताया कि सोमवार से मंगलवार सुबह तक इस्लामाबाद के साथ-साथ ऊपरी और मध्य पंजाब के लिए भारी बारिश की संभावना है। मौसस विभाग के प्रमुख अजमत हयात खान ने कहा कि किला सैफुल्लाह में मौसम कार्यालय ने तीन से चार फुट बर्फ की बात कही है, जो सामान्य से डेढ़ से दोगुना अधिक बर्फ है।

मीडिया को संबोधित करते हुए बलूचिस्तान के सीएम जाम कमाल खान ने कहा कि कमिश्नर और डिप्टी कमिश्नर को हाई अलर्ट जारी किया गया था। भारी बर्फबारी ने मेहतरजई से झीब तक के राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया है और कई वाहन फंसे हुए हैं। इस बीच, बलूचिस्तान में रविवार को भारी बर्फबारी के कारण घरों की छत गिरने के बाद अलग-अलग घटनाओं में तीन महिलाओं और तीन बच्चों सहित कम से कम 10 लोग मारे गए।

क्वेटा घाटी और उत्तरी बलूचिस्तान के कुछ हिस्सों में शनिवार को भारी बर्फबारी और रुक-रुक कर हुई बारिश ने प्रांतीय राजधानी और ज़ियारत के साथ-साथ सीमावर्ती शहर चमन के बीच ट्रैफिक को प्रभावित किया। सुबह से शुरू हुई बर्फबारी दिन भर रुक-रुक कर जारी रही।

रविवार को हालात हुए खराब

बता दें, मौसम विभाग ने रविवार को कराची में कभी-कभार तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना जताई थी। इसके अलावा, बर्फबारी से मेहेतरजई से झीब तक राजमार्ग बाधित हो गया जिस कारण कई वाहन फंसे हुए हैं।

महानिदेशक पीडीएमए ने कहा कि यातायात के लिए राजमार्ग खोलने के लिए काम चल रहा था। मौसम विभाग ने क्वेटा, कलात, खुज़दार, मस्तुंग, किला अब्दुल्ला, किला सैफुल्लाह, झोब, सिब्बी, लोरलाई, चघी, नोककुंडी, मकरान, खारन, पंजगुर, केच और ग्वादर में व्यापक बारिश और बर्फबारी का अनुमान लगाया है। इस अवधि के दौरान ग्वादर, अवारन, केच, पंजगुर, क्वेटा, तुरबत, मस्तुंग और कलात जिलों में भारी गिरावट की संभावना है।

शनिवार को भी बिगड़े हालात

पाकिस्तानी न्यूज़ डॉन के मुताबिक, पाकिस्तान को अफगानिस्तान से जोड़ने वाले खज़क दर्रे पर बर्फबारी के कारण क्वेटा-चमन राजमार्ग पर शनिवार को यातायात निलंबित कर दिया गया। अफ़गानिस्तान के लिए पारगमन व्यापार भी प्रभावित हुआ और ट्रांजिट माल ले जाने वाले ट्रकों को ख़ोजक पास पर रोक दिया गया। ज़ियारत, किला अब्दुल्ला, किला सैफुल्लाह, पिशिन, कान मेहतरजई, मुस्लिम बाग और टोबा ककरारी में भी बर्फबारी हुई।